अवधेश सिंह की कवितायेँ हिंदी हलचल    


हिन्दी हलचल के लिए सचित्र रिपोर्ट आमंत्रित है कृपया कार्यक्रम के प्रचार प्रसार हेतु सूचना साझा करें - प्रबंध संपादक 


 

पिछली गतिविधियां 


 

कवि डॉ.कुंअर बेचैन के अमृत महोत्सव में उमड़ा जन सैलाब  -सौ से अधिक संस्थाओं ने किया सम्मानित ।  

सहजता सरलता और विनम्रता की पराकाष्ठा का जीता जागता स्वरूप डॉ कुँवर बेचैनगाजियाबाद। विगत 8 जुलाई , हिन्दी भवन , लोहिया नगर गाजियाबाद में अखिल भारतीय साहित्य परिषद के तत्वाधान में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त साहित्यकार एवं शहर के गौरव महाकवि डॉ. कुंअर बेचैन के जीवन के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में अमृत महोत्सव एवं काव्य संध्या का आयोजन किया गया। 1 जुलाई 1942 को जन्मे डॉ. कुंअर बेचैन का असली नाम डॉ० कुँवर बहादुर सक्सेना है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वयोवृद्ध और बीमारी से काफी कमजोर हो चुके सुविख्यात गीतकार पद्मभूषण गोपालदास नीरज ने कहा कि कुंअर बेचैन की कविताएं युगों-युगों तक साहित्य और दस्तवेज के रूप मे जीवित रहेंगी। अपनी मौजूदगी से इस समारोह को नयी ऊँचाइयाँ देते हुए उन्होंने अपने काव्यपाठ के दौरान कहा कि आत्मा के सौन्दर्य का शब्द रूप है काव्य। मानव होना भग्य है,कवि होना सौभाग्य। शेष रिपोर्ट 

राजभाषा का क्रियान्वयन एवं कम्प्यूटर प्रौद्योगिकी पर कार्यशाला राजभाषा का क्रियान्वयन एवं कम्प्यूटर प्रौद्योगिकी पर कार्यशाला ,दिनांक 29 मई 2017 को संगीत नाटक अकादेमी, नई दिल्ली के राजभाषा अनुभाग द्वारा ‘राजभाषा का क्रियान्वयन एवं कम्प्यूटर प्रौद्योगिकी’ विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में संगीत नाटक अकादेमी की सचिव श्रीमती ऋता स्वामी चौधरी तथा संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार में राजभाषा विभाग के निदेशक श्री वेद प्रकाश गौड़ ने राजभाषा के विकास एवं प्रसार में कम्प्यूटर प्रौद्योगिकी की महत्ता पर प्रकाश डाला तथा अकादेमी के कर्मियों से कम्प्यूटर पर हिन्दी के प्रयोग के विभिन्न सुझाव भी दिए।शेष खबर 

 


 

डॉ रमा पांडे के काव्य संग्रह, गुहार, का वातायन द्वारा विमोचनडॉ रमा पांडे के काव्य संग्रह, गुहार, का वातायन द्वारा विमोचन
30 जुलाई 2014. वातायन: पोएट्री ऑफ साउथ बैंक, लन्दन, ने डा सत्येन्द्र श्रीवास्तव की याद में एक कार्यक्रम हाउस ऑफ लौर्डस, लन्दन, में आयोजित किया, जिसमें लेखिका, फिल्म निर्माता-निर्देशक रमा पांडे के पहले काव्य संग्रह, गुहार, का भी विमोचन संपन्न हुआ.  कार्यक्रम की मेज़बान बैरोनैस श्रीला फ्लैदर ने आयोजन के लिए आभार प्रकट करते हुए सत्येन्द्र श्रीवास्तव को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की. 


 

श्री ब्रजेन्द्र त्रिपाठी की गद्य पुस्तक ‘साहित्य एवं परिवेश’    का लोकार्पण समारोहसाहित्य अकादेमी के सभागार में श्री ब्रजेन्द्र त्रिपाठी की गद्य पुस्तक ‘साहित्य एवं परिवेश’    का लोकार्पण समारोह के अध्यक्ष श्री  विश्वनाथ  प्रसाद तिवारी ने अपने उद्बोधन में वसुधैव कुटुम्बकम् व भूमंडलीकरण के बीच के  अंतर को स्पष्ट करते हुए कहा  कि  भूमंडलीकरण के चलते हमारी संस्कृति, साहित्य  पर प्रबल संकट  का दौर है तब  भारतीय साहित्य और अपनी संस्कृति से जुड़े पहलुओं पर बात करना साहित्य के हक़ में अच्छी बात है।

वाराणसी के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के पत्रकारिता संस्थान सभागार में प्रसिद्ध नवगीतकार डॉ. बुद्धिनाथ मिश्र पर केन्द्रित पुस्तक ‘बुद्धिनाथ मिश्र की रचनाधर्मिता’ का लोकार्पण कुलपति डॉ. पृथ्वीश नाग एवं डॉ. अनुराधा बनर्जी ने किया। वाराणसी के महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के पत्रकारिता संस्थान सभागार में प्रसिद्ध नवगीतकार डॉ. बुद्धिनाथ मिश्र पर केन्द्रित पुस्तक ‘बुद्धिनाथ मिश्र की रचनाधर्मिता’ का लोकार्पण कुलपति डॉ. पृथ्वीश नाग एवं डॉ. अनुराधा बनर्जी ने किया।               

अवधेश सिंह के कविता संग्रह “छूना बस मन” का लोकार्पण नयी दिल्ली के साहित्य अकादिमी के  रवीन्द्र भवन , मंडी हाउस  में संपन्न हुआसंग्रह में प्रेम के माधुर्य को विशेष गरिमा प्रदान की है कवि की प्रेम के प्रति गहरी अनुभूति “अभिव्यक्ति” को उद्दात रूप प्रदान करती है यहाँ प्रेम अपनी कलात्मक और कोमल स्वरुप में प्रतिबिंबित होता है” उक्त कथन अवधेश सिंह के कविता संग्रह “छूना बस मन” के  लोकार्पण पर कार्यक्रम अध्यक्ष विश्व में ख्याति प्राप्त  वरिष्ठ कवि गीत व गजलकार व साहित्यकार श्री   कुँअर बेचैन ने व्यक्त किया

साहित्य अकादमी द्वारा 26 अगस्त 2014 को श्री अभिमन्यु अनत को मानद महत्तर सदस्यता साहित्य अकादमी द्वारा 26 अगस्त 2014 को श्री अभिमन्यु अनत को मानद महत्तर सदस्यता

 “यह सम्मान एक लेखक को देशों के मध्य साहित्यक और सांस्कृतिक सेतु बनने के लिए अपने जीवन को समर्पित करने पर प्रदान किया जा रहा है जिसे देकर यह अकादमी अपने को गौरवान्वित होने कि अनुभूति प्राप्त कर रही है “ - विश्व नाथ तिवारी अध्यक्ष साहित्य अकादमी नयी दिल्ली ।इस अवसर पर अभिमन्यु अनत को प्रधानमंत्री भारत सरकार, श्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यालय के माध्यम से पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया ।


 

अलका - मनु सिन्हा रिचय साहित्य परिषद के 27 वें वार्षिक  उत्सव के  अवसर पर राजधानी के रूसी विज्ञान एवं संस्कृति केंद्र में18 मार्च,  2014 को  भारत सरकार के संस्कृति  मंत्रालय में सहायक निदेशक के रूप में कार्यरत  श्री  मनोज सिन्हा (मनु) और हिंदी की प्रख्यात कवयित्री-कथाकार श्रीमती अलका सिन्हा को ‘सहचर सम्मान-2014’ से सम्मानित किया गया 

दक्षिण अफ्रीका में भारत के  हाई कमिश्नर श्री वीरेंद्र गुप्ता

"आज के दौर में प्रवासी भारतीयो की भूमिका हिन्दी व संस्कृति से ज्यादा व्यापार विस्तार में॥"

दक्षिण अफ्रीका में भारत के  हाई कमिश्नर श्री वीरेंद्र गुप्ता ने स्पष्ट किया की बहुत पहले हिन्दी और संस्कृति से संबंधित भारतीय अधिकारियों के कार्य दो देशो के मध्य केवल भाषाई और परम्पराओं के अदान प्रदान तक सीमित हुआ करते थे,  अब वो स्थित नहीं है........

हंगरी , उज्बेकिस्तान , रूस , पोलैंड व ब्रिटेन के किशोर छात्र छात्रों के द्वारा “ उनकी अपनी विशिस्ट बोलचाल शैली” में हिंदी भाषा में उनके द्वारा मौलिक रचित कविताओं का पठन पाठन का कार्यक्रम,  यह द्रश्य “ अक्षरम् ” के बैनर तले नयी दिल्ली के साहित्य अकादमी सभागार में 26 अगस्त 2011 को आयोजित ” यूरोप के 20  विद्यार्थियों  का अभिनन्दन समारोह ” का है,हंगरी , उज्बेकिस्तान , रूस , पोलैंड व ब्रिटेन के किशोर छात्र छात्रों के द्वारा “ उनकी अपनी विशिस्ट बोलचाल शैली” में हिंदी भाषा में उनके द्वारा मौलिक रचित कविताओं का पठन पाठन का कार्यक्रम,  यह द्रश्य “ अक्षरम् ” के बैनर तले नयी दिल्ली के साहित्य अकादमी सभागार में 26 अगस्त 2011 को आयोजित ” यूरोप के 20  विद्यार्थियों  का अभिनन्दन समारोह ” का है,